Thursday, April 21, 2011

कबीरा कहे ये जग अंधा.......

                                             मित्रो, ...........   नेट पर तफरी करते हुए यह फोटो मुझे दिखाई दे गया . हमारे बहुत से ऐसे पूजा स्थल हैं जो सड़क किनारे दो पत्थरों को सिंदूर पोत कर तैयार किये गए हैं . यहाँ कुत्ते बैठे पाए जाते हैं , यहाँ तक कि इन जगहों पर वे अक्सर टट्टी - पेशाब भी करते रहते हैं लेकिन कोई ध्यान  नहीं देता हैं . आम तौर पर हिन्दू भगवान से मांगने जाता है और उसके बाद भूल जाता है . यहाँ देखिये ... किसकी आराधना हो रही है  !!!!!!!


No comments:

Post a Comment